Part 3 Hasi Majak ke chutkule Series

Hasi Majak ke chutkule: घर का खर्चा

 एक दिन एक पतिपत्नी में बहुत जोर से झगडा हो गया. पति ने कहा कि अगर मैं पैसे कमाना बंद कर दूं तो न यह घर रहेगा, न इस घर का खर्चा चलेगा,
पत्नी भी कौन-सी पीछे हटने वाली थी, वो भी चिल्ला कर बोली, मुझे भी सिर्फ तुम्हारे पैसों की फिक्र है, वरना, मैं भी यहां तुम्हारे साथ कहां रहने वाली थी।

😂😂😂

Hasi Majak ke chutkule: साहब अभी तक नहीं आये

मैम साहबनौकरानी से, आज तेरे साहब अभी तक नहीं आये, मुझे तो
डर लग रहा है कि वो दफ्तर में किसी लड़की के चक्कर में न पड़
गये हों।
नौकरानीमैम साहब, आप तो हमेशा उलटा ही सोचती हैं. ऐसा भी
तो हो सकता है, साहब किसी बस, ट्रक के नीचे आकर मर गये हों।

😉😉😉

Hasi Majak ke chutkule: अब तुम मुझे प्यार नहीं करते

पत्नीपति से, पहले तुम दाल-सब्जी बहत थोड़ी खाते थे. और मेरे लिये हमेशा ज्यादा छोड़ देते थे। अब तो तुम मेरे लिये थोड़ी सी दाल-सब्जी भी नहीं छोड़ते। लगता है कि अब तुम मुझे प्यार नहीं
करते।
पति – ओ भाग्यवान, यह बात नहीं है। असल में पहले तुम्हें दाल-सब्जी
ठीक से बनानी ही नहीं आती थी। अब कुछ समय से तो तुम ने ढंग से खाना बनाना और मैंने खाना शुरू किया है।

😂😂😂

Hasi Majak ke chutkule: बच्चों का होमवर्क

एक पति-पत्नी लगातार कई सालों तक दिन-रात भगवान की पूजा करते रहे।

एक दिन उनकी भक्ति देखकर भगवान प्रकट हो गये और उनको एक वर मांगने के लिये कहा।

दोनों पति-पत्नी ने हाथ जोड़कर भगवान से कहा, कि हमें इतना ज्ञान और ताकत दो कि हम अपने बच्चों का होमवर्क ठीक से करवा सकें।

भगवान ने अपनी लचारी जताते हुए कहा, इस वर को मैं तो क्या, मेरे भगवान भी पूरा नहीं कर सकते।

😉😉😉😉

Hasi Majak ke chutkule: पत्नी के हाथ का बना खाना

जय वीरू से, तुम्हारी पत्नी जब भी तैयार होकर निकलती है, तो अब
भी न जाने कितनों का घायल कर देती है।
वीरू – तू घायल होने की बात कर रहा है. एक बार उसके हाथ का बना
खाना खा ले, अगर तू जिंदा बच गया तो कहना।

🤣🤣🤣🤣